मतलब की जोड़…

रिश्ते की डोर में बांध उन्हें,
सम्भाल रखा था अपने दिल के क़रीब,
पर मुझे क्या पता था इस डोर में,
बंधी थी वो अपने मतलब की जोड़ से।

हर रिश्ते की अपनी ही कहानी,
थोड़ी खट्टी मीठी, थोड़ी नई पुरानी,
पर नहीं दिखता है यहाँ कोड़ी सच्चाई,
क्योंकि यहाँ भी दिखता है मतलब की परछाई।

शायद ही वो समझ सके,
निश्चल प्यार कि परिभाषा खुद से,
प्यार करने की ईक्षा है उनके दिल में,
पर खुद को बांध रखी है मतलब की जोड़ से।

कुणाल कुमार

Thanks God…

Thanks God,
I found real me,
In past Lost I was lost in dream,
But now I awoke from this dream.

Now I understood,
Why you do not love me,
As you liked to be loved by me,
But do not have courage to love back me.

Thanks God,
For waking me from dream,
If you do love me,
Then dare to accept me.

Kunal Kumar

Me …

When I see the world,
I see the beauty all around,
Is it the beauty present outside,
Or the beauty is present inside me.

When thy apathy grows for me,
I see the beauty which is stored for me,
Is this what my eyes can see,
Or its your perception stored inside me.

I keep rebooting myself as a daily routine,
Ignore bad feelings and try to see happy things,
Always thinking positive and happy thing,
If you belive it or not, but it’s real me.

Kunal Kumar

Best Of Luck…

It is always better to say Good Bye,
Wish them Best of luck for whom you once cried,
Rather than staying together soar life,
Where having no feeling of love for thy.

Do always wish good for them,
Even though if you feel getting used by them,
Because if they will be happy in life,
You will never be in ennui and state of cry.

Why to carry the spoilt part of your life,
Where no respect and fear stored for thy,
As one fine day all has to go,
So accept life with all happiness minus cry.

Kunal Kunar

Love is Convenience

Love is Convenience,
Relationship is full of dismay,
All think of self goal,
Which they can achieve for themself.

Purity is vanished,
Selfishness is the new say,
Which makes the relationship partial,
And makes it difficult to stay.

Thinking for others is ceased,
But thinking about self is increased,
Convenience joined hands with connivance,
And cheating has replaced truthfulness.

Forget all and introspect self,
What are you expecting and what is your say,
Do you love someone without any expectation,
Or expecting of getting loved back again.

Kunal Kumar

परछाई…

कौन कहता है,
मैं नहीं हूँ तुम्हारे दिल के क़रीब,
ज़रा अपनी परछाई तो देख लो,
पाओगी उसमें अक्स तुम मेरी।

साथ निभाने का वादा,
जो किया था मैंने अपने दिल से,
अब प्यार करो या ना तुम,
पर पाओगी मुझे अपने दिल में।

नकार सकती हो तुम मेरे वजूद को,
अपने सोच के परिभाषा से,
पर क्या निकाल सकती हो अपने दिल से,
जहां जगह बनाई है मैंने निश्चल प्यार से।

कोई अपेक्षा नहीं, कोई अभिलाषा नहीं,
बस हँसता रहता हूँ तुम्हारी याद दिल लिए,
पाने की चाहत उन्हें होती है,
जिन्हें विश्वास नहीं होता अपने प्यार पे।

तुम ख़ुश रहो बस यही तमन्ना है मेरी,
दुख छू ना पाए तुम्हें यही इक्षा है अब मेरी,
तुमसे दूरी का अहसास नहीं है अब मुझे,
जब तुम्हारी याद आती है, पता हूँ तुम्हें खुद में।

चाहे लाख बुरा कहे कोई मुझे,
अपनी सफ़ाई नहीं दूँगा कभी मैं तुम्हें,
क्योंकि अगर कभी प्यार किया है तुमने मुझसे,
तो विश्वास ज़रूर होगा मुझपे।

कुणाल कुमार

https://madhukosh.com

परछाई…

कौन कहता है,
मैं नहीं हूँ तुम्हारे दिल के क़रीब,
ज़रा अपनी परछाई तो देख लो,
पाओगी उसमें अक्स तुम मेरी।

साथ निभाने का वादा,
जो किया था मैंने अपने दिल से,
अब प्यार करो या ना तुम,
पर पाओगी मुझे अपने दिल में।

नकार सकती हो तुम मेरे वजूद को,
अपने सोच के परिभाषा से,
पर क्या निकाल सकती हो अपने दिल से,
जहां जगह बनाई है मैंने निश्चल प्यार से।

कोई अपेक्षा नहीं, कोई अभिलाषा नहीं,
बस हँसता रहता हूँ तुम्हारी याद दिल लिए,
पाने की चाहत उन्हें होती है,
जिन्हें विश्वास नहीं होता अपने प्यार पे।

तुम ख़ुश रहो बस यही तमन्ना है मेरी,
दुख छू ना पाए तुम्हें यही इक्षा है अब मेरी,
तुमसे दूरी का अहसास नहीं है अब मुझे,
जब तुम्हारी याद आती है, पता हूँ तुम्हें खुद में।

चाहे लाख बुरा कहे कोई मुझे,
अपनी सफ़ाई नहीं दूँगा कभी मैं तुम्हें,
क्योंकि अगर कभी प्यार किया है तुमने मुझसे,
तो विश्वास ज़रूर होगा मुझपे।

कुणाल कुमार

https://madhukosh.com

Washing my eyes…

Memory is a an album,
Where moments can be seen,
Life is a Journey,
Full of dreams….

Sometimes we feel stupid,
Cheated by our own dream,
But can we afford to live,
Without any such dreams….

Its always on us,
To predict life happiness,
But we choose to control emotions,
And let mind set free…

Why can’t we see,
And experience true self,
Where love can be felt,
From true soul not from mind …

I am washing my eyes,
to clean bad feelings,
Will keep good moments,
And make life live it’s dream…

Kunal Kumar
https://madhukosh.com

पुरुष…

ना छल है दिल में,
ना ही कपट किसी के लिए,
बस ढूँढता है दिल उसे,
जो समझ पाए कभी मुझे।

दिन बदले,
बदले महीने और साल,
ऋतु बदलते गए यूँ ही,
पर ना मिल पाया किसी अपने का साथ।

क्या ज़्यादा चाहा था दिल मेरा,
चाहता था बस सच्चाई भरा साथ,
पर आपको शायद ज़्यादा की चाहत थी,
इसीलिए किया आपने अनेकों से प्यार।

कुणाल कुमार
Insta: @madhu.kosh
Telegram: https://t.me/madhukosh
Website: https://madhukosh.com

कौन…

यों पास आते है लोग,
प्यार करने का दिखावा करते है अनेक,
जब दिल चाहने लगता है उन्हें,
तभी असलियत से पहचान करवाते है वो हमें।

इज़्ज़त और अभिमान,
जीना था हमें लिए स्वामिभान,
पहले तो किया आपने प्यार,
फिर कुचल दिया हैं मेरा स्वामिभान।

क्यों निरीह सा बनूँ मैं,
नहीं झुकना है मुझे कभी,
सर उठा कर जीना है मुझे,
चाहे जीवन जीना परे अकेले अभी।

कुणाल कुमार
Insta: @madhu.kosh
Telegram: https://t.me/madhukosh
Website: https://madhukosh.com

उपहार…

कवि बना,
भूल गया मैं सब कुछ,
प्यार तो हुआ नहीं तुम्हें मुझसे,
पर सोच क्यों हुई खोटी तुम्हारी मेरे लिए।

मैंने तो जीना सिखा,
तुम्हारे अहसास के अनुभूति से,
तुमने क्यों नहीं सोचा कभी,
मेरे दिल में सिर्फ़ प्यार था तेरे लिए।

आज मैंने वादा किया खुदसे,
भूल जाऊँगा तुम्हारी याद को खुदसे,
बस थोड़ा समय दो तुम मुझे,
ताकि दफ़न कर दूँ हर याद को अपने दिल में।

यही है मेरे जन्मदिन का तोहफ़ा तेरे लिए…..

कुणाल कुमार
Insta: @madhu.kosh
Telegram: https://t.me/madhukosh
Website: https://madhukosh.com

उपहार…

कवि बना,
भूल गया मैं सब कुछ,
प्यार तो हुआ नहीं तुम्हें मुझसे,
पर सोच क्यों हुई खोटी तुम्हारी मेरे लिए।

मैंने तो जीना सिखा,
तुम्हारे अहसास के अनुभूति से,
तुमने क्यों नहीं सोचा कभी,
मेरे दिल में सिर्फ़ प्यार था तेरे लिए।

आज मैंने वादा किया खुदसे,
भूल जाऊँगा तुम्हारी याद को दिलसे,
बस थोड़ा समय दो तुम मुझे,
ताकि दफ़न कर दूँ हर याद को अपने दिल में।

यही है मेरे जन्मदिन का तोहफ़ा तेरे लिए…..

कुणाल कुमार
Insta: @madhu.kosh
Telegram: https://t.me/madhukosh
Website: https://madhukosh.com